Saturday, August 09, 2008

"Aarti Kunj Bihari Ki" - Lord Shri Krishna Prayer

Subscribe to Bhagwat Gita & Our Life Subscribe to Bhagwat Gita & Our Life in MY YAHOO! Subscribe to Bhagwat Gita & Our Life in MY GOOGLE! Subscribe to Bhagwat Gita & Our Life in MY MSN! Subscribe to Bhagwat Gita & Our Life in MY AOL! Subscribe to Bhagwat Gita & Our Life in Rojo!
"Aarti Kunj Bihari Ki" is a Lord Krishna Prayer। This Devotional prayer of Hindus is called an "Aarti" which is sung in Hindu homes & temples to invoke the blessings of Lord Shri Krishna.

Here below are lyrics of this prayer / aarti too written in Hindi Language.



आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..
आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..
आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की..
आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..

गले में वैजन्ती माला,
बजावे मुरली मधुर बाला,
श्रवण में कुण्डल झलकाला,
नन्द के आनन्द नन्द लाला,

गगन सम अंग कान्ति काली,
राधिका चमक रही आली,
रतन में ठाड़े वनमाली,
भ्रमर सी अलक,
कस्तूरी तिलक,
चन्द्र सी झलक,
ललित छवि श्यामा प्यारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..

आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..
आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..


कनकमय मोर मुकुट बिलसै,
देवता दरसन को तरसै,
गगन सों सुमन राशि बरसै,
बजेमुरचग मधुर मृदंग गवालिनि संग,
अतुल रति गोप कुमारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..

आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..

आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..

जहाँ से प्रगट भयी गंगा,
कलुष कलि हारिणि श्री गंगा,
स्मरण से होत मोह भंगा,
बसी शिव शीश, जटा के बीच, हरे अघ कीच,
चरण छवि श्री बनवारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..

आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..
आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..


चमकती उज्ज्वल तट रेणु,
बज रही बृन्दावन वेणु,
चहुँ दिसि गोपि गवाल धेनु,
कसक मृद मंग, चाँदनि चन्द,
खटक भव भन्ज टेर सुन दीन भिखारी की...
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की..

आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की..
आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..
आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की..
आरती कुँज बिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ..

Labels: , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Get Gita-Blog Updates by e-mail

Now just type GitaBlog.com to come to this Blog

Bookmark/Add Bhagwat Gita & Our Life to Favorites 

1 Comments:

Anonymous Anonymous said...

Thank you very much for providing the lyrics in Hindi

5:05 AM  

Post a Comment

Links to this post:

Create a Link

<< Home